"Brahmachari Girish Ji Honoured at Dharma Sanskriti Mahakumbha 2016"
Navigation: Product Details
Categories

Shri Ram Sahasranam Stotram


Shri Ram Sahasranam Stotram
मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम सर्वव्यापी पूर्ण ब्रह्म हैं। राम ब्रह्म परमारथ रूपा।
श्रीराम सर्वाधिक आदर्श एवं शाश्वत् विश्व प्रशासक हैं। राम राज्य भूतल पर स्वर्ग के रूप में वर्णित है जहाॅं न केवल मानव वरन् समस्त जीव बिना किसी तरह के दुःख के अनन्त आनन्द पाते हैं। वे सभी प्रशासकों के मार्गदर्शक राजा राम हैं।
श्रीराम सहस्रनाम राम जी के 1000 गुण हैं। उनका प्रत्येक नाम चेतना के विशेष गुण को दर्शाता है और अत्यन्त महिमाकारी है। सहस्रनाम का पाठ करने वाले या श्रवण करने वाले की चेतना में तथा सम्पूर्ण वातावरण में श्रीराम जी के इन समस्त गुणों का जागरण होता है।
श्रीराम नाम पूर्ण पवित्र, मणि के समान प्रकाशमान, अनुपम, बहुमूल्य और अतुलनीय है। श्री राम नाम अज्ञान के अन्धकार को दूर करके जीवन को शुद्ध ज्ञान, अनन्त रचनात्मक शक्ति और आनन्द से परिपूरित कर देने वाला है। श्रद्धा और विश्वास पूर्वक श्रीराम की भक्ति सन्तुष्टि, शाश्वत् शांति, अजेयता और मोक्ष प्रदायक है।
श्रीराम अष्टोत्तर शतनामावली श्रीराम जी के 108 प्रमुख नाम हैं। श्रीराम नाम अजेयता प्रदायक, अभयदायक और शुभकारक है।

श्री राम सहस्रनाम स्तोत्रम ----- ३४ ४३
श्री राम अष्टोत्तर शतनामावली----- ०९:०७

गायक: अथर्व वेद विद्वान पंडित रमेश वर्धान और कृष्णा यजुर वेद विद्वान पंडित रामकृष्ण भट्ट
Shri Ram is Maryada Purushottam-the Totality-all pervading Brahman- Ram Brahma Parmarath Rupa.
Shri Ram is the most ideal and perpetual ruler. The Ramayana describes Ram-Rajya-The rule of Ram, as a time of heavenly life on earth where not only human beings, but also all creatures enjoyed a blissful life without any kind of suffering. Ram is the guiding light for all rulers and administrators for all time.
Shri Ram Sahasranam describes 1000 names of Ram. Each name of Shri Ram refers to a specific quality of consciousness. Listening to Shri Ram Sahasranam enlivens these qualities of Shri Ram in the consciousness of the listener and at the same time, these qualities are charged in the environment.
The divinely vibrant name of Ram is jewel-like, absolute, unique, vital, highly valuable, profound, gracious and incomparable in its effectiveness. It dispels the dark clouds of ignorance and thrills the inner being with the enlivenment of pure knowledge, infinite power and celestial bliss. Devotedly listening to Shri Ram Sahasranam brings increasing contentment, fulfillment, peace, invincibility and enlightenment.
Shri Ram Ashtottar Shatnamavali lists 108 names of Ram, which represent some of the most important qualities of Shri Ram. Pious name of Shri Ram is known for enlivening invincibility, auspiciousness and support of Natural Law in life.

Shri Ram Sahasranam Stotram ----- 34:43
Shri Ram Ashtottar Shatnamavali ----- 09:07

Recitation by: Atharv Ved Vidwan Pt. Ramesh Vardhan and Krishna Yajur Ved Vidwan Pt. Ramkrishna Bhatt
More you like to buy Items