"Brahmachari Girish Ji Honoured at Dharma Sanskriti Mahakumbha 2016"
Navigation: Product Details
Categories

Shri Mahadev-Karuna Sagar
(Shri Shiv Sahasranam Stotram)


Shri Mahadev-Karuna Sagar <br/>(Shri Shiv Sahasranam Stotram)
श्री शिव जी देवाधिदेव-महादेव-महेष हैं। श्री ब्रह्मा जी और श्री विष्णु जी सहित सभी देवता उनकी आराधना करके उनसे कृपा, करुणा और शांति की कामना करते हैं। शिव जी समस्त देवताओं में सर्वाधिक दयाशील तथा करुणामय हैं। किंचित मात्र भक्ति से ही वे अपने भक्तों को मनवांछित फल प्रदान करते हैं।
श्री शिव सहस्रनाम शिव जी के १००० गुण हैं। उनका प्रत्येक नाम चेतना के एक-एक गुण को दर्शाता है और अत्यन्त महिमाकारी हैं। सहस्रनाम का पाठ करने वाले या श्रवण करने वाले की चेतना में तथा वातावरण में महादेव के इन समस्त गुणों का जागरण होता है।
श्री शिव अष्टोत्तर शतनामावली में शिव जी के १०८ नाम हैं। इन नामों के उच्चारण के साथ शिव जी की पुष्पार्चना विल्वपत्रार्चना की जाती है। लिंगाष्टक एक सिध्द स्तोत्र है, जो जीवन से अंधकार को दूर हटाकर प्रकाश की पूर्णता का प्रखार लाता है।
फलश्रुति के अनुसार श्री शिवशंकर के सहस्रनाम और स्तोत्रों के पाठ या श्रवण से उनके भक्तों को उनकी असीम कृपा, करुणा, और स्थायी मानसिक शांति-समाधि की चेतना-ब्राह्मीय चेतना का अनुभव होता है। सोमवार शिव जी का दिन माना जाता है अतः सोमवार को शिव जी के स्तोत्र और सहस्रनाम सुनने की अनुशंसा की जाती है।

श्री महादेव-करुण सागर
श्री शिव सहस्रनाम स्तोत्रम ----- ४२ :०६
श्री शिव अष्टोत्तर शतनामावली ----- ०८ :१५
श्री लिंङ्गाष्टकम् -----०३ :५१
सस्वर पाठ: अथर्व वेद विद्वान पंडित रमेश वर्धन और पंडित रामकृष्ण भट्ट


Shri Shiv Ji is known as Devadhidev-Mahadev-Mahaesh. All Devatas including Shri Brahma and Shri Vishnu worship Shiv Ji and seek blessings, compassion and lasting peace from him. Shiv Ji is the most kind and compassionate Devata amongst all Devatas. Even with simple prayer, he very kindly bestows every possible fulfillment to his devotees.

Shri Shiv Sahasranam-1000 names describe 1000 qualities of Shiv Ji. Each name of Shankar Ji refers to a quality of consciousness. Listening Sahasranam enlivens these qualities of Mahadev in the consciousness of the listener and at the same time, these qualities are charged in the environment.

Shri Shiv Ashtottar Shatnamavali has 108 names of Shiv. These names are few of the most important qualities, which may be chanted while offering flowers or bilvapatra to Shiv Ji. Lingashtaka Stotra is a Siddha Stotra of Shiv, which brings coherent light of wisdom and removes all darkness from the life.

As described in phalshruti-benefits of chanting Shri Shiv Sahasranam and stotras, Devotees receive kindness, compassionate attention, uninterrupted lasting peace of mind and deep silence; they enjoy state of Samadhi- unity consciousness-the unbounded field of all possibilities.

Monday is known to be the day of Shiv Ji. It is recommended to listen Sahasranam and other stotras of Shiv Ji on Monday.

More you like to buy Items